कोरोना और लॉकडाउन में करे ई-भंडारा, ई-भंडारा मोबाइल सेवा की शुरुआत, जरूरतमन्दों तक प्रसाद

जेठ का माह प्रारम्भ हो गया है जिसमे लखनऊ में मंगलवार को हनूमान जी पूजा अर्चना के साथ भण्डारे की परंपरा है। इन मंगलो को बड़ा मंगल कहते है। इस बार 4 बड़े मंगल है जो क्रमशः 1, 8, 15 तथा 22 जून को है। लॉकडाउन और कोरोना संक्रमण के चलते बड़े मंगल पर आयोजित होने वाले भंडारों पर आयोजको के संशय को दूर करते हुए महापौर संयुक्ता भाटिया ने ई-भंडारे की व्यवस्था प्रदान की।मंगलमान Read More

पहला बड़ा मंगल २०२१ – ०१ जून

ज्येष्ठ मास में पड़ने वाले प्रथम मङ्गल को ही “बड़ा मङ्गल” कहते हैं। वर्ष २०२१ में ज्येष्ठ का प्रथम मङ्गलवार ०१ जून को पड़ रहा है। इस दिन को लखनऊवासी बड़े ही धूम धाम से श्रद्धा पूर्वक “बड़ा मंगल” के रूप में मनाते है। इस बार का “प्रथम बड़ा मंगल” कृष्ण पक्ष की सप्तमी तिथि को पड़ रहा है जिसमें चंद्र धनु राशि में स्थित है एवं धनिष्ठा नक्षत्र होने के कारण अत्यंत ही शुभ Read More

कोरोना काल में बड़ा मंगल

कोरोना के प्रकोप से पूरा देश कराह रहा है। बहुत से लोग शहर में बाहर से पढ़ने, कमाने या फिर किसी और काम से आये थे और फंस गए हैं। अनेको के पास रहने, खाने का कोई इंतजाम नहीं है। कई लोग रेस्टोरेंट या ठेले पर  बाटी-चोखा, पुड़ी-सब्जी खाकर  पेट भरते थे। लॉक डाउन होने के कारण वे भी फस गए है और भूखे सो रहे हैं। शहरी गरीबों की स्थिति तो और भी दयनीय Read More

भण्डारे में प्रसाद बाँटने वालों और प्रसाद लेने वालों से एक आग्रह..

“भण्डारा हमारी श्रद्धा है, तो स्वच्छता हमारी जिम्मेदारी। स्वच्छता का ध्यान रक्खें, और प्रसाद का मान रक्खें ।।” भण्डारे के प्रसाद को Status symbol मत बनाएंः हम सामान्य तौर पर पूजा के निमित्त जो प्रसाद बांटते हैं हनुमानजी.को उसका ही भोग लगाएं और वितरित करें । माँ दुर्गा का प्रसाद पूडी, चना और हलवा है, हनुमान जी को लड्डू और बूंदी प्रसाद चढता है जो उनको प्रिय भी है । गर्मी होने के नाते शरबत Read More

बी एस एन वी पीजी कॉलेज आयोजित करेगा पर्यावरण अनुकूल भंडारा

बप्पा श्री नारायण पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज 28 मई को दूसरे बड़े मंगल के अवसर पर कॉलेज परिवार की ओर से भंडारे का आयोजन करने जा रहा है। कॉलेज के प्राचार्य डॉ राकेश चंद्रा ने कहा कि हमारे द्वारा आयोजित भंडारा पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने का प्रयास करेगा। हम प्लास्टिक की बस्तुओं का उपयोग नहीं करेंगे और स्वच्छता पर विशेष ध्यान रखेंगे। भंडारा हमारी श्रद्धा है, हम बड़े ही भाव से पूर्वक प्रत्येक वर्ष भंडारे Read More

बड़ा मंगल त्यौहार व पर्यावरण सुरक्षा

लखनऊ में प्रति वर्ष ज्येष्ठ माह में बड़ा मंगल का त्यौहार हर्षोल्लास से मनाया जाता है । इसमें हिन्दू व मुसलमान , दोनों ही समुदायों के नागरिक बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेते हैं । यह त्यौहार लखनऊ की संमिश्रित संस्कृति का अनूठा उदाहरण है । यह त्यौहार भारत के और स्थानों में देखने को नहीं मिलता । बताया जाता है की इस त्यौहार का उद्गम १७१८ ईस्वी में है जब अवध के नवाब की बेगम Read More