eBhandara #246 @Kathauta Jheel, Chinhat

Click Here for More Photos and Videos


ई-भंडारा परंपरागत रूप से लगाए जाने वाले भण्डारो का संवर्धित स्वरुप है। यहां ई-भंडारा का अर्थ है- Easy, Economic, Environmental friendly, Electronically empowered, Effective Bhandara.

इसके माध्यम से कम श्रम, शक्ति, संसाधन लगाकर अत्यधिक पर्यावरण केंद्रित, सामाजिक सरोकार से युक्त, प्रभावी भंडारे का आयोजन किया जा सकता है।

इस सेवा का सञ्चालन मंगलमान अभियान के अंतर्गत किया जा रहा है। मंगल भाववर्धन का अभियान ही मंगलमान है। यह लखनऊ की बड़े मंगल की श्रेष्ठ परंपरा को विश्व फलक पर प्रतिष्ठापित करने का अभियान है।

हर दिन मंगल हो, हर मंगल बड़ा मंगल हो, बड़ा मंगल से राष्ट्र मंगल हो – यही हमारा भाव है ।

प्रसाद का निर्माण स्वच्छता एवं पवित्रता से परिपूर्ण आध्यात्मिक केन्द्रो पर किया जाता है तथा इसका वितरण  मंगल भक्तों एवं सहयोगी संस्थाओ से समन्यवय करके किया जाता है।

भंडारे का आयोजन आप अपनी श्रद्धा, शक्ति, समर्पण के अनुरूप कर सकते है। 

सेवा एवं सहयोग प्रदान करने हेतु निम्न फॉर्म के माध्यम से अपना संकल्प व्यक्त करने की कृपा करे।

Select Payment Method
Personal Info

Donation Total: ₹1,100.00


Other Bhandaras


बड़ा मंगल-२०२१ ई-भंडारे हेतु समर्पण

मंगलमान अभियान के अन्तर्गत बड़ा मंगल के अवसर पर भव्य ई-भंडारे का आयोजन है. सभी भक्तजनों…

बड़ा मंगल-२०२१ ई-भंडारे हेतु समर्पण

ई-भंडारा सेवा का सञ्चालन  ज्येष्ठ २०२० से  मंगलमान अभियान के अंतर्गत किया जा रहा है। मंगल भाववर्धन का अभियान ही मंगलमान है। यह लखनऊ की बड़े मंगल की श्रेष्ठ परंपरा को विश्व फलक पर प्रतिष्ठापित करने का अभियान है।

हर दिन मंगल हो, हर मंगल बड़ा मंगल हो, बड़ा मंगल से राष्ट्र मंगल हो – यही हमारा भाव है ।

ई-भंडारा परंपरागत रूप से लगाए जाने वाले भण्डारो का संवर्धित स्वरुप है। यहां ई-भंडारा का अर्थ है- Easy, Economic, Environmental friendly, Electronically empowered, Effective Bhandara.

इसके माध्यम से कम श्रम, शक्ति, संसाधन लगाकर अत्यधिक पर्यावरण केंद्रित, सामाजिक सरोकार से युक्त, प्रभावी भंडारे का आयोजन किया जा रहा  है।

इस सेवा के माध्यम से हर मंगल बड़ा मंगल हो भाव के अनुरूप प्रत्येक मंगलवार को जनजागरण किया जाता रहा है और 300+ सफल आयोजनों के माध्यम से 1,00,000+ भक्तो की सेवा का सुअवसर प्राप्त हुआ है।

प्रसाद का निर्माण स्वच्छता एवं पवित्रता से परिपूर्ण आध्यात्मिक केन्द्रो पर किया जाता है तथा इसका वितरण  मंगल भक्तों एवं सहयोगी संस्थाओ से समन्यवय करके किया जाता है।

कोरोना की दूसरी लहर के मध्य जहां एक ओर इस सेवा के द्वारा आप बड़ा मंगल पर अपना संकल्प पूर्ण कर सकते है वही प्रसाद का वितरण जरुरतमंदो के मध्य होने से आप बजरंगबली के विशेष कृपा पात्र भी बनेगे।

भंडारे का आयोजन आप अपनी श्रद्धा, शक्ति, समर्पण के अनुरूप कर सकते है। 

सेवा एवं सहयोग प्रदान करने हेतु निम्न फॉर्म के माध्यम से अपना संकल्प व्यक्त करने की कृपा करे।

Select Payment Method
Personal Info

Donation Total: ₹2,100.00

मंगल प्रसाद हेतु सहयोग

मंगलमान ई-भंडारे में प्रसाद के रूप में हनुमान जी की शक्ति से युक्त आयुर्वेदिक काढ़े का…

मंगल प्रसाद हेतु सहयोग

कोरोना के प्रकोप से पूरा देश कराह रहा है।

कोरोना आज नहीं तो कल होना ही है !!

हमे इस युद्ध को जीतने के लिए आवशयक प्रतिरोधक क्षमता विकसित करना है और बनाये रखना है।

इसी कारण मंगलमान ई-भंडारे में हम प्रसाद के रूप में हनुमान जी की शक्ति से युक्त आयुर्वेदिक काढ़े का वितरण करते है जो निरंतर जारी है।

ताकतवर होते कोरोना की दूसरी लहर के साथ ही हम भी अधिक ताकत के साथ इस संजीवनी बूटी को अधिकाधिक भक्तो तक वितरित करने के लिए संकल्पित है। साथ ही प्रयासरत है उन परिवारों तक भोजन, आवश्यक सामान एवं दवाईयों को पहुचाने का जहां सभी कोविड +ve है।

आपका छोटा सा सहयोग इसे गतिमान करने के लिए अभिनंदनीय होगा।

अनेको सरकारी, सामाजिक संस्थाएं चुनौतियों से निपटने का प्रयास कर रही है। परंतु, समस्या इतनी विकराल है कि प्रयासों की स्पीड और स्केल को लगातार बढ़ाते जाने की आवश्यकता है।

हम जन सहयोग से यथासंभव दीपक जलाने का प्रयास कर रहे है और आपसे भी निवेदन करते हैं कि आपदा की इस घड़ी में थोड़ा सा कष्ट सहकर भी "नर सेवा नारायण सेवा" का भाव लाकर मानवता की रक्षा के लिए आगे आएं।

आइये मिलजुल कर मंगल भाव का विस्तार करे।

हम सेवा के आदर्श भगवान हनुमान से करवद्ध प्रार्थना करते हैं कि वे हमारे अंतःकरण में साहस, शौर्य, पराक्रम, सेवा का संचार कर इस महामारी से बच निकलने का मार्ग प्रशस्त करे।

"सभी के मंगल की कामना ही मंगलमान है "

यथासंभव सहयोग करे-

 

Select Payment Method
Personal Info

Terms

Donation Total: ₹1,100.00

ई-भंडारे हेतु समर्पण

मंगलमान अभियान के अन्तर्गत बड़े मंगल के अवसर पर भव्य ई-भंडारे का आयोजन है. सभी भक्तजनों…

ई-भंडारे हेतु समर्पण

ई-भंडारा परंपरागत रूप से लगाए जाने वाले भण्डारो का संवर्धित स्वरुप है। यहां ई-भंडारा का अर्थ है- Easy, Economic, Environmental friendly, Electronically empowered, Effective Bhandara.

इसके माध्यम से कम श्रम, शक्ति, संसाधन लगाकर अत्यधिक पर्यावरण केंद्रित, सामाजिक सरोकार से युक्त, प्रभावी भंडारे का आयोजन किया जा सकता है।

इस सेवा का सञ्चालन मंगलमान अभियान के अंतर्गत किया जा रहा है। मंगल भाववर्धन का अभियान ही मंगलमान है। यह लखनऊ की बड़े मंगल की श्रेष्ठ परंपरा को विश्व फलक पर प्रतिष्ठापित करने का अभियान है।

हर दिन मंगल हो, हर मंगल बड़ा मंगल हो, बड़ा मंगल से राष्ट्र मंगल हो – यही हमारा भाव है ।

प्रसाद का निर्माण स्वच्छता एवं पवित्रता से परिपूर्ण आध्यात्मिक केन्द्रो पर किया जाता है तथा इसका वितरण  मंगल भक्तों एवं सहयोगी संस्थाओ से समन्यवय करके किया जाता है।

भंडारे का आयोजन आप अपनी श्रद्धा, शक्ति, समर्पण के अनुरूप कर सकते है। 

सेवा एवं सहयोग प्रदान करने हेतु निम्न फॉर्म के माध्यम से अपना संकल्प व्यक्त करने की कृपा करे।

Select Payment Method
Personal Info

Donation Total: ₹1,100.00

Help a Child to Complete Education

Hello We are team sarthak with a mission and need your help and support. Please spare…

Help a Child to Complete Education

Hello

We are team sarthak with a mission and need your help and support. Please spare some time to go through our mission. We are sure you would like to make it your own mission too.

COVID-19 has spread its legs over every sphere in the society. The catastrophic extend is the most for those underprivileged unfortunate kids whose parents are unable to provide them a full meal of the day. Education for them is no longer a priority in these times of distress.

It is right time to support these children so that they can continue their education and bring themselves higher in the social hierarchy.

However, this is possible only with your generous association and support.

There are two ways you can contribute.

Adopt a Center- We are establishing remote coaching centers (r-Kaksha) for under privileged students in their locality. What is needed at a center is a laptop/tablet, a projector and internet connectivity. The center might be a school campus, a temple premises or a closed space volunteered by someone.  A local facilitator will help teachers/coaches in conducting their online classes.

You can adopt a center (r-Kaksha) by providing us necessary financial support (which is about 35K for establishment + 35K running cost= 70K ) in establishing such centers. You can also dedicate your adopted center in the name of your beloved one.

Besides this, those who have access to smart phones and internet connectivity will be provided completely online classes(e-Kaksha). In this case there is no need of physical space requirement. The only thing is a software system which cost approximately 3K per months or 35K per year.

Sponsor a Student- The education provided to our e-Kaksha Kendra's is absolutely free of charges. All the teachers have volunteered their time, expertise  and energy to this Good cause. However, student need financial support for their day to day educational expenses. You can help a student by paying his/her school fee and meet out their educational expenses like book, bags etc which cost about 1K per month or 10K per year.

In the first phase we are identifying 100 students in Lucknow to support them comprehensibly to complete their education.

I would be grateful if you could open your hearts towards this cause by supporting us with whatever amount is convenient to you.

Personal Info

Donation Total: ₹500.00

COVID-19 Help

[DISPLAY_ULTIMATE_SOCIAL_ICONS]   कोरोना के प्रकोप से पूरा देश कराह रहा है। बहुत से लोग शहर में…

COVID-19 Help

[DISPLAY_ULTIMATE_SOCIAL_ICONS]

 

कोरोना के प्रकोप से पूरा देश कराह रहा है। बहुत से लोग शहर में बाहर से पढ़ने, कमाने या फिर किसी और काम से आये थे और फंस गए हैं। अनेको के पास रहने, खाने का कोई इंतजाम नहीं है। कई लोग रेस्टोरेंट या ठेले पर  बाटी-चोखा, पुड़ी-सब्जी खाकर  पेट भरते थे। लॉक डाउन होने के कारण वे भी फस गए है और भूखे सो रहे हैं।

अनेको सरकारी, सामाजिक संस्थाएं चुनौतियों से निपटने का प्रयास कर रही है। परंतु, समस्या इतनी विकराल है कि प्रयासों की स्पीड और स्केल को लगातार बढ़ाते जाने की आवश्यकता है।

हम जन सहयोग से यथासंभव दीपक जलाने का प्रयास कर रहे है और आपसे भी निवेदन करते हैं कि आपदा की इस घड़ी में थोड़ा सा कष्ट सहकर भी "नर सेवा नारायण सेवा" का भाव लाकर मानवता की रक्षा के लिए आगे आएं।

हम सेवा के आदर्श भगवान हनुमान से करवद्ध प्रार्थना करते हैं कि वे हमारे अंतःकरण में साहस, शौर्य, पराक्रम, सेवा का संचार कर इस महामारी से बच निकलने का मार्ग प्रशस्त करे।

"हमारा धर्म है कि हम किसी को भूखे ना सोने दे"

 

सहयोग कैसे करे-

मंगलमान कोष 

सीधे लाभार्थियों तक पहुँचने के लिए आप अपना संकल्पित सहयोग  वॉलेट / डेबिट/क्रेडिट/ऑनलाइन बैंकिंग द्वारा अतिशीघ्र  टीम मंगलमान के माध्यम से पहुंचा सकते है. इसके लिए पेमेंट गेटवे का चुनाव कर 'Donate Now' को क्लिक करे।

यदि आप कैश अथवा किसी वस्तु जैसे- खाद्य पदार्थ, राशन, मास्क, सेनिटाइजर, कपडे, किताब-कॉपी, स्कूल बैग, जूते-चप्पल आदि का सहयोग करना चाहते है तो  पेमेंट हेतु 'Offline Donation' का चुनाव करे।

सेवा भारती कोष

विश्व की सबसे बड़ी स्वयंसेवी संस्था "राष्ट्रीय सेवा भारती" के माध्यम से स्वयंसेवक अपने अपने मुहल्लों/वस्तियों में राहत और सेवा कार्य चला रहे हैं। आप अपना योगदान सीधे सेवा भारती के नीचे दिए अकाउंट में भी दे सकते है जो प्रामाणिक रूप से लाभार्थियों तक जायेगा।

    • Name of account- Sewa Bharti
    • Account no- 142201000005672
    • Bank Name- Indian Overseas Bank
    • Branch- Gomtinagar, Lucknow
    • IFSC CODE- IOBA0001422

प्रधान मंत्री /सरकारी राहत कोष

भारत सरकार ने कोरोना योद्धाओं हेतु प्रधानमंत्री कोरोना फण्ड की स्थापना की है। आप अपना योगदान सीधे प्रधानमंत्री या मुख़्यमंत्री राहतकोष में भी जमा कर सकते है। सरकार की तमाम योजनाओं  में इस फण्ड का उपयोग किया जाता है।

    • Name of Account - PM CARES
    • Account no - 2121PM20202
    • IFSC CODE - SBIN0000691
    • SWIFT CODE - SBININBB104
    • Name of bank & branch - State bank of India, main branch, Delhi
    • UPI ID- pmcares@sbi

 

Select Payment Method
Personal Info

Terms

Donation Total: ₹101.00